भदभदा विश्राम घाट पहली बार अंत्‍येष्‍ठी से ऑनलाइन जुड सकेंगे देश-विदेश में परिजन

ताका झाकी हमारा शहर
कोरोना काल में जिन्‍होंने अपनों को खोया है वे ही उनके अंतिम दर्शन न कर पाने का दुख जानता होगा। वहीं कोविड प्रोटोकॉल के तहत हो रहे अंतिम संस्‍कारों में पांच से ज्‍यादा लोग शामिल भी नहीं हो पा रहे है। यहीं कारण है कि कुछ ऐसे रहवासी जिनके बेटेबहु विदेश में या अन्‍य राज्‍यों में होने के कारण संस्‍कार से वंचित हो जाते हैइधरकोविड प्रोटोकॉल के तहत अंत्‍येष्‍ठी कार्यक्रम शुरू होने से लेकर खत्‍म होने तक सब कुछ परिचनों को आनलाइन दिखाया जाता है। हालांकि इस इस दौरान साउंड व्‍यवस्‍था नहीं रहेगी लेकिन अपनों के दर्शन आसानी हो जाएंगे। यह प्रयोग सफल होने के बाद अन्‍य विश्राम घाटों में भी यह व्‍यवस्‍था लागू की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *